Startup किसे कहते है?

जब कोई बिजनेस किसी यूनिक(अनोखा) आईडिया पर पर काम करता है तो उसे START UP कहते है। दरसल स्टार्ट उप
किसी भी प्रॉब्लम को आसान बनाने के लिए चलाया जाता है। किसी भी बड़ी प्रॉब्लम को कम्म से कम पैसे मै SOLVE करने
वाला स्टार्ट उप कहलाता है। START UP एक नया किस्म होता है किसी भी बिजनेस का।

स्टार्टअप(StartUp)कितने प्रकार के होते है

स्टार्ट उप ज्यादा तर किसी भी प्रॉब्लम का समाधन होता है। इसको देखते हुए START UP कई इस पकार मै बाटा गया ह।
1 ऑनलाइन स्टार्ट उप
2 ऑफलाइन स्टार्टअप

1 ऑनलाइन स्टार्ट उप

ऑनलाइन START UP दरसल जो की इंटरनेट की मद्दियम से शुरू किये जाते है। इस प्रकार के स्टार्ट उप (BUSSNESS)
एक जा एक से अन्य व्यक्ति चला सकते है.

अगर हम भारत (INDIA) की बात करे तो भारत मै सं 2015 से लेकर 2020 तक
बहुत प्रकार के ऑनलाइन बस्सनेस स्टार्ट हूयते है जैसे की

  1. ZOMATO
  2. UBER
  3. FLIPKART
  4. OLA

1 इन प्रकार के अन्ये START UP को एक बियक्ति से स्टार्ट होकर कंपनी मै तब्दीली हुयी है। इन स्टार्ट उप ने इनोवेशन मै
तब्दीली ल्याई है। जैसे की ZOMATO का अपना कोई भी रेस्टोरेंट नहीं है.

फिर भी जोमाटो पूरे भारत मै अपना खाना
की सुप्पी करवाता है । 2020 मै LOCKDOWN दोरान ZOMATO ने पूरे भारत मै होम डिलवेरी की मदद से
पूरे भारत को सप्लाई की।

2 और साथ ही साथ उबेर की अपनी कोई कार नहीं है लकिन UBER पूरे भारत मै UBER की कार रेंट पर चलती है
इस प्रकार की बुसनेस्स को START UP कहते है।

स्टार्ट उप कम से कम लगत मै ज्यादा प्रॉफिट देता है और लोगो
की समस्या का समाधन भी करता है।

3 ऑनलाइन शॉपिंग की दुनिआ मै FLIPKART का बहुत बड़ा नाम है फ्लिपकार्ट ने भारत मै बहुत इनोवेशन करि है
अगर कोई Customer को कोई सामान चाहिए तो उसे घर बैठे सामान पोहचना फ्लिपकार्ट का काम है इस प्रकार से
स्टार्टअप का लोगो को बहुत फिडा आता है।

ऑफलाइन स्टार्टअप

ऑफलाइन स्टार्टअप एक ऐसा बिज़नेस होता है जो की इंटरनेट पर बहुत काम निर्भर होता है जैसे की ऑनलाइन स्टार्टअप मै एक
कंपनी पूरी तरह इंटरनेट पर निर्भर होती है.

और दूसरी तरफ जैसे की एअक फैक्ट्री है हो की मोबाइल फ़ोन और कुश भी बनती है
इस तरह का बिज़नेस ऑफलाइन स्टार्टअप कहलाता है जिसमे ज्यादा से ज्यादा वर्कर्स काम करते हो और सारा काम कंप्यूटर की बजाये
मेचिन्स करती हो।

बिजनेस VS स्टार्टअप

अगर हम पुराने तरीके की बात करे तो बिजनेस एक कंपनी होती है जिसमे कस्टमर को प्रोडक्ट प्रदान किया है जाता है
और फैक्ट्री और कारखाने और बहुत कुश की जर्रूरत होती है।

इस से अलग स्टार्टअप मै इस सबब चीजों की कोई ऑब्सीकता
कम्म होती है बिजनेस के मुकाबले। बिजनेस ज्यादा लगत मै काम करता है और इस से उलट एक स्टार्टअप कम लगत मै काम करता है
और इसमें बिजनेस के मुकाबले कम्म एम्प्लोये होते है काम करने वाले।

Startup कैसे करें

अगर आप ने भारत मै अपना स्टार्टअप स्टार्ट करना है तो सब से पहले अप्प के पास एक अलग सा आईडिया होना चाहिए
जिस से अप्प कोई इनोवेशन कर सको।

और साथ की साथ आपके पास थोड़ा सा फण्ड भी होना चाहिए जो की एअक बिजनेस
स्टार्ट करने से बहुत कम्म ही होता है।

STARTUP स्टार्ट करने के के लिए आपको कोई पढ़ाई की अबसाहकता नहीं है। स्टार्टअप स्टार्ट
करने की पूरी जानकारी यहाँ दी गयी है नीचे

  1. बिजनेस प्लान
  2. फंडिंग सोर्स
  3. रोल मॉडल
  4. इनकम सोर्स
  5. फ्यूचर प्लानिं

ऊपर दिए गए 5 पॉइंट्स मै बताया गया है की एअक सफल स्टार्टअप को स्टार्ट करने क लिए इन सब की जर्रूरत पड़ेगी। स्टार्टउप
को चलने के लिए कोई बिल्डिंग अब्श्कता नहीं है इस के लिए एक वडिआ प्लान चाहि।

अगर आपके पास किसी भी प्रकार का आईडिया है और अप्प एक नया स्टार्टअप स्टार्ट करना चाहते है तो भारत सरकार ने पिछले कुश सालो से एअक नया प्रोजेक्ट लॉन्च कियता है जिसको STARTUP INDIA का नाम दिया गया है .

जिसमे आप किसी भी START करने से पहले GOVT एक्सपर्ट्स से गए ले सकते है और साथ ही साथ मै अप्प को पूरी SUPPORT भी मिलेगी।अगर अप्प एअक स्टूडेंट है आपको लगता है की आप ने जॉब नहीं करनी है आपको अपना बिजनेस करना है तो अप्प ने एक सही रास्ता चुना है अपनी कररेर का एकमात्र बिजनेस ही एअक ऐसा इनकम सोर्स है जो आपको अमीर बना सकता है और आप अपने सपने पूरे कर सकते है।2020 मै कोरोना के टाइम बहुत सरे स्टार्टअप स्टार्ट हुए जिन मै से बहुत सरे सफल हुए और बोह सफल इस लिए हुए उन स्टार्टअप ओनर ने लोगो की प्रोब्लेम्स को सोल्वे किया और बोह सफल हो सके।

Leave a Comment