Conversion Rate Optimization क्या है?

अपने प्रोडक्ट को किसी भी सोशल मीडिया पे Advertisement करते है पर्टिकुलर लैंडिंग पेज और वेबसाइट से टोटल विसिटोर्स
मै से कितने परसेंट लोग परचेस करते है बोह होता है कन्वर्शन रेट.उसी कन्वर्शन रेट के प्रोसेस को ऑप्टिमाइज़ करने को कन्वर्शन रेट ऑप्टिमाइजेशन कहते है .Same Advertisement बजट से ज्यादा से ज्यादा सेल्स को Increase करने वाला प्रोसेस को CRO कहते है।

कन्वर्शन रेट का सारा प्रोसेस गूगल एड्स या फिर फेसबुक एड्स दुवारा किया जाता है . इन प्लेटफॉर्म्स मे हम्म अपना बुग्गेट सेट
करते है और एड्स रन करते है.

FOR EXAMPLE: मैने एक अड़ रन किया गूगल अड़ पर उस पर मुझे १०० विजिटर ने अड़ देखा और उन मै से
५ लोगो ने अड़ पर क्लिक कर के मेरा प्रोडक्ट के बारे मै देखा और परचेस किया .

इस से मेरा कन्वर्शन रेट ५ परसेंट हुआ . जो की मेरा कन्वर्शन रेट ५पर्सेन्ट है हमें इन्क्रेसे करना है
उस प्रोसेस को conversion rate optimization कहते है.

Conversion Rate Optimization का पूरा प्रोसेस

1 डाटा कलेक्ट फ्रॉम यूजर

सबसे पहले हमे अपने लैंडिंग पेज या फिर वेबसाइट पर यूजर का डाटा कलेक्ट करना है जिसे लीड जनरेशन भी
कहते है.

और कलेक्टेड डाटा जैसे की ईमेल , मोबाइल नंबर , नाम , एडरेस ETC है। इस से हम ईमेल मार्केटिंग भी
कर सकते है। यूजर के वेबसाइट और लैंडिंग पेज से जब एंटर होता है.

तब्ब ही उस से एअक फॉर्म के रूप मै यूजर का डाटा
कलेक्ट किया जाता है । सबसे इम्पोर्टेंट यूजर का डाटा ही है जो हमारे प्रोडक्ट को सेल्ल होने मै हेल्प करता है।

2 मनी बैक गरंटी ऑफर

हमारे लैंडिंग पेज पर जब कोई यूजर एंटर होता है तो सबसे पहले Price चेक करता है। और फिर ट्रस्ट बनता है
अगर हमने यूजर के साथ अच्छा रिलेशन बनाना है.

तो हमें यूजर की पालिसी का ड़याँ रखना होग। जैसे की मनी बैक गारंटी .
एक्साम्प्ले: अगर कोई यूजर हमारा प्रोडक्ट परचेस करता है

तो अगर उसको प्रोडक्ट अच्छा ना लगे या फिर बदलना हो तो उस
के लिए मनी बैक गारंटी होनी चाहिए। हम अपने यूजर को मक्सीमुँ 10 दिन मनी बैक रेतुर्न दे सकते है इस से यूजर का अपनी
कंपनी और प्रोडक्ट की और ज्यादा ट्रस्ट बनेगा .

3 काउंट डाउन बटन फॉर
अगर हमने अपना प्रोडक्ट को सेल करना है तो हमें यूजर को प्रोडक्ट लेने के लिए उत्तेजित, करना होग। हम अपना बजेट
कॉन्टिनुएस नहीं चला सकते

.हमे अपने लैंडिंग पेज पर एअक काउंट डाउन टाइमर लगाना होगा जिस से यूजर को लग्गेगा की
ऑफर सिर्फ कुश समाये का रह गया है .ऐसे उसके mind को लग्गेगा की टाइम निकले जा रहा है और यूजर उस क बाद
उस प्रोडक्ट को खरीद कर लेगा इस प्रोसेस से हमारा Conversion Rate Optimiztion और अच्छा होगा .

FOR एक्साम्प्ले : जैसे यूजर एंटर होता है हमने 10 मिनट लेफ्ट का टाइमर लगा रखा है जिअसे यूजर को लग्गेगा की ऑफर का
समाये निकले या रहा है और यूजर प्रोडक्ट को परचेस कर लेगा .

4 Simple User Friendly Base 

यूजर को हमारे प्रोडक्ट को ट्रस्ट करने के लिए सबसे पहले हमे अपना इंटरफ़ेस चेंज करना होगा .यूजर को हमारे इंटरफ़ेस
इर्रिटेटिवे नहीं लग्न चाहिए जिस से हमारे लोस्स हो सकता है

इस से बचने के लिए हमे अपनी landing page को क्लीन
रखना होगा और यूजर फ्रेंडली कंटेंट रखना होगा जिस से यूजर को कोई प्रॉब्लम ना हो सके .

ज्यादातर लोग अपना कंटेंट
यूजर फ्रेंडली नहीं रखते है जिस से उनकी सेल अच्छी गेनेराते नहीं होती और उन्हें लोस्स देखना पड़ता है।

5 बेस्ट कम्युनिकेशन

जब कोई यूजर हमारी लैंडिंग पेज पर एंटर होता है तो हमें अपनी कांटेक्ट टीम को उसे बेस्ट तरीके से बात करना
चाहिए जिस से हमारे गलत इम्प्रैशन ना पड़े यूजर पर उस पर ज्यादा से ज्यादा ट्रस्ट बनाये जीसस से हम अपनी
रिलेशनशिप यूजर से और ज्यादा बनाई रखे Conversion Rate Optimization.

Conversion Rate Optimization Tips in Hindi

1 कॉल तो एक्शन ( Call To Action )

जैसे की यूजर हमरे  Google ads अड़ को देखे और उस मै दिए गए नंबर पर क्लिक करे और डायरेक्ट कॉल पर बात कर सकेFor एक्साम्प्ले :जैसे हम एअक Real Estate की एक्साम्प्ले लेते है हमने एक होम सेल की ads चलायी और यूजर ने अड़ देखा और डायरेक्ट कॉल कर लिया ऐसे कॉल तो एक्शन काम करता है।

2 Conversion Funnel

किसी भी प्रोडक्ट को सेल करने क लिए फ़नल बनाना बहुत जरूरी है फ़नल से हम अपने प्रोडक्ट के बारे मै सब कुश बता
सकते है यूजर को अलग Landing Page की मदद

3 A/B Testing

जैसे की हमने कोई लैंडिंग पेज का अड़ (Ads ) चलाया है और उस पर कन्वर्शन कम्म आ रही है तो हम्म A/B Testing को इस्तेमाल करेंगे जिस से हम एअक टाइम
मै डिफरेंट लैंडिंग पेज को रन कर सकते है इस एक्सपेरिमेंट से हम अपने कन्वर्शन रेट को डिफरेंट रास्तो मै ऑप्टिमाइज़ कर सकते है।

Leave a Comment