पीली क्रांति (Yellow Revolution) क्या है?

पीली क्रांति (Yellow Revolution) जिसे तिलहन क्रांति भी बोला जाता है ,खाद और तिलहन फसलों के बिकास करने की नयी राजनीती बना दी जाती है उसे पीली क्रांति बोला जाता है। इस राजनीती को भारत में 1980 में राजीव गाँधी ने इस का निर्माण किया गया था। इस  में ऐसी फैसले जैसे की जिन से तेल का निर्माण होता है उनको बढ़ावा दिया गया था।

pili-kranti-kya-hai

इस के आने के बाद देश में सभी जगह इस प्रकार की फसलों का अजात होने लगा था। सरसो ,सूरजमुखी अदि प्रकार के फसलों के कारन हाइब्रिड बीज और तेल का निर्माण बढ़ने लगा है। इस में पिले का मतलब होता है की फूल जैसे की सरसो और सूरजमुखी का फूल होता है ऐसी तरह इस का निर्माण किया गया है। यह केवल फूलो पर ही निर्भर करती है ,जैसे की अलग अलग प्रकार के फूल इस में शामिल है।

क्रांति क्या है?

क्रांति का मतलब है की तेज गति में होने वाले परिबर्तनो को क्रांति बोलै जाता है, जिसे इंग्लिश में रेवोलुशन बोलै जाता है। दूसरे शब्दों में सामाजिक और राजनितिक ढांचे में अमूल बदलाब आना ऐसे क्रांति कहते है.

जैसे की समाज का पुराण ढांचा है उसको पूरी तरह नए ढांचे में बदल देना ही इसकी उदाहरण है। जैसे की भारत ने अंग्रेजो से सुटकारा पाया था यह भी एक प्रकार की क्रांति कहलाता है।जब कोई उत्पादन दिन बार दिन बढ़ता रहता है तो यह एक दिन क्रांति का निर्माण कर देता है ,लगातार हो रही सफलता को एक क्रांति के रूप में देखा जाता है। देश में होने वाली बहुत सारी क्रांति है लकिन हम आपको इस आर्टिकल के जरिये पीली और नीली के बारे में ही बतायेगे।

विज्ञानं क्या है?-विज्ञानं की शाखाएं कितनी होती है

पीली क्रांति कब हुई?

लिपिनो सीनेटर बेनिग्नो की हत्या के बाद के तुरंत बाद प्रदर्शन दौरान पिले रिबन की उपस्थिति के कारन पीपली क्रांति का निर्माण 1986 में हुआ था। इसे पीपुल्स पावर रिवोल्यूशन भी बोला जाता है.

बीस साल के नियमो के खिलाफ क्रांति को बेयापक जीत के रूप में देखा गया था।जब सरकार ने भारत में इसके बारे में सोचा की दिन भर दिन फूलो के व्यापार में लगातार बढ़ावा हुआ जा रहा है , तो इसको देखते ही देखते निर्माण किया गया.

इस के कारन बहुत सारे लोगो को फयदा हुआ है जैसे की छोटे किसान जिनके पास ज्यादा एकड़ जमीन नहीं है और फसलों को लगाने की बजाये बह फूलो जैसे फसलों कर निर्माण करते है और इस की मदद से काम एकड़ जमीन से भी अच्छा मुनाफा कमा लेते है।

नीली क्रांति क्या है?

नीली क्रांति का मतलब है की मछली और समुद्री व्यापार को ज्यादा से ज्यादा बढ़ावा देना है। यह  पहले चीन जैसे देशो में शुरू हुयी थी इस प्रकार के देशो में ज्यादा से ज्यादा मछली और समुंद्री जानबरों का व्यापार होता था ,इस तरह से इसको भारत जैसे देश में भी बढ़ावा दिया गया.

नीली का मतलब है की पानी यानि नीला समुन्दर इस तरह से इस का नाम रखा गया है। इस में किसी भी प्रकार की कोई फसल नहीं शामिल है यह केवल पानी के ऊपर ही निर्भर है जैसे आपको बताया है की समुन्दर।

Leave a Comment