App Store Optimization in Hindi

App Store Optimization एक ऐसा प्रोसेस है जिस से अपनी एप्लीकेशन को किसी भी कीवर्ड पर सर्च रिजल्ट में ज्यादा तर दिखाना एप्लीकेशन को रैंक करा के उसके डौणलोर्डस को बढ़ाना।इस प्रोसेस में हमें अपनी एप्लीकेशन को सर्च इंजन के लिए अच्छा बनाना है जिस के कारन सर्च इंजन हमारी ऐप्प पर भरोसा करे और उसे अच्छा रैंकिंग दे।

अगर हम किसी भी एप्लीकेशन स्टोर की बात करें तो हर किसी स्टोर में बहुत मुकाबला हो चूका है एप्लीकेशन में और इस समस्या में रैंक करना मुश्किल हो जाता है। इस समस्या को दूर करने के लिए ऐप्प स्टोर ऑप्टिमाइजेशन इस्तेमाल होता है। अगर हम ऐप्प स्टोर ऑप्टिमाइजेशन की बात करें तो सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन के जैसी ही है।

App Store Optimizationकैसे करते है

इसको करने के लिए बहुत सरे प्रोसेस होते है जिसको एक डेवलपर ही कर सकता है यह प्रोसेस इस प्रकार है :-

  • एप्लीकेशन नाम(टाइटल)
  • डिस्क्रिप्शन(Description)
  • कीवर्ड(Keywords)
  • अनइंस्टाल रेट(Uninstall Rate)
  • रिव्यु रेटिंग(Review Rating)
  • डौणलोर्डस(downloads)
  • एप्लीकेशन नाम(टाइटल)

App Store Optimization करने के लिए सबसे पहले आपको अपनी एप्लीकेशन का नाम जिसे टाइटल कहा जाता है यह सबसे जयदा माईने रखता है। इस प्रोसेस में आपको आपकी एप्लीकेशन के कीवर्ड के अनुसार नाम रखना चाहिए जिस से आपको अच्छा नाम और रैंकिंग भी मिलती है।

डिस्क्रिप्शन(Description)

सबसे महताबपूर्ण डिस्क्रिप्शन है App Store optimization में इस में आपको अपनी अप्पीलिकेशन के बारे में यूजर को बताना है की आप किस केटागरी और किस प्रकार की सॉफ्टवेयर एप्लीकेशन बना रहे है। यह प्रोसेस आपकी एप्लीकेशन की रैंकिंग को भी मजबूत बनायीं रखता है। अगर अपने डिस्क्रिप्शन अच्छा लिखा है तो यूजर के डौणलोर्ड करने की क्षमता बहुत ही ज्यादा हो जाती है।

ऐप्प स्टोर ऑप्टिमाइजेशन में कीवर्ड बहुत ही जरुरी है। कीवर्ड दर्शाता है की आप ने किस के बारे में एप्लीकेशन बना रहे है जिस से स्टोर को भी आपकी एप्लीकेशन को रैंक करने के लिए सहायता मिलेगी। सबसे जरुरी कीवर्ड है जो की ऐप्प को रैंक करने के लिए इस्तेमाल होता है।

अनइंस्टाल रेट(Uninstall Rate)

यह अप्लीकेशन ऑप्टिमाइजेशन की बहुत बड़ी समस्या है। इसक मतलब अगर कोई यूजर आपकी ऐप्प को अनइंस्टाल मतलब अपने मोबाइल से डिलीट कर देता है उसको अनइंस्टाल कहते है। इसे काम करने के लिए आपको अप्लीकेशन को यूजर के हिसाब से बनाना होगा और तेज और बोर्रिंग नहीं बनाना होगा।

रिव्यु रेटिंग(Review Rating)

इस प्रोसेस में यूजर आपकी ऐप्प को डौणलोर्ड करने के बाद उसका एक्सपेरिंस को सर्च इंजन के साथ साँजा करने को रिव्यु कहते है।जब यूजर आपकी ऐप्प को डौणलोर्ड करने के लिए जाता है तो सबसे पहले रिव्यु देखता ह। इस लिए आपको रिव्यु अच्छा लेना चाहिए अपने यूजर को देखाने के लिए जिस से ज्यादा डौणलोर्डस हो सक।

डौणलोर्डस(downloads)

जितने ज्यादा डौणलोर्डस होंगे उतने ही आपकी ऐप्प चलेगी और आपके लिए अच्छा होगा। आपको आपकी ऐप्प का यूजर एक्सपेरिंस ऐसा रखना होगा की यूजर आपकी एप्लीकेशन को डौणलोर्ड कर सक। आपको ज्यादा से ज्यादा इस प्रोसेस पर ध्यान देना होगा।

ऐप्प स्टोर कितने प्रकार के होते है

अगर हम ऐप्प स्टोर की बात करें तो ज्यादा तर मोबाइल के लिए दो प्रकार के है।

  1. गूगल प्ले स्टोर
  2. ios स्टोर

गूगल प्ले स्टोर (Google Play Store)

यह स्टोर गूगल द्वारा बनाया गया मोबाइल ऐप्प स्टोर है। इसकी मदद से ऐप्प किसिस भी प्रकार की एप्लीकेशन और गेम को अपने मोबाइल में डौणलोर्ड कर सकते है। यह एप्लीकेशन स्टोर केवल एंड्राइड मोबाइल्स के लिए है। इसको Google Play Store कहते है।

ios स्टोर

यह स्टोर केवल एप्पल के फ़ोन के लिए बनाया गया है। इसमे भी गूगल प्ले स्टोर की तरह आप एप्लीकेशन और गेम्स डौणलोर्ड कर सकते केवल अपने एप्पल के मोबाइल के। इस स्टोर में गूगल के स्टोर के ,मुकाबले बहुत काम एप्लीकेशन है। इसको ios स्टोर कहते है।

ऐप्प स्टोर ऑप्टिमाइजेशन के फयदे(Benefits of App Store Optimization)

  1. App Store Optimization आपकी एप्लीकेशन के डौणलोर्डस को बढ़ाती है।
  2. App Store Optimization से आप अपनी एप्लीकेशन को जल्दी रैंक कर सकते हो।
  3. इस से आप अपनी एप्लीकेशन की ग्रोथ जल्दी कर सकते हो।
  4. यह प्रोसेस बिलकुल फ्री है इसमे आप बिना पैसे के कर सकते हो।
  5. यह प्रोसेस करने पर आपको जल्दी से जल्दी रैंकिंग मिलेगी और आप 1 नंबर पर भी रैंक कर सकते हो।

Leave a Comment